Breaking Newsअन्य राज्यआगराइंदौरइलाहाबादउज्जैनउत्तराखण्डगोरखपुरग्राम पंचायत बाबूपुरग्वालियरछत्तीसगढ़जबलपुरजम्मू कश्मीरझारखण्डझाँसीदेशनई दिल्लीपंजाबफिरोजाबादफैजाबादबिहारभोपालमथुरामध्यप्रदेशमहाराष्ट्रमहिलामेरठमैनपुरीयुवाराजस्थानराज्यरामपुररीवालखनऊविदिशासतनासागरहरियाणाहिमाचल प्रदेशहोम

*जिला शांति समिति की बैठक में नवरात्रि एवं विजयादशमी का त्योहार के संबंध में की गई चर्चा*

शहडोल जिला मध्यप्रदेश

*जिला शांति समिति की बैठक में नवरात्रि एवं विजयादशमी का त्योहार के संबंध में की गई चर्चा*

(पढ़िए संभागीय ब्यूरो चीफ चंद्रभान सिंह राठौर की रिपोर्ट)

हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएं नवरात्रि एवं विजयादशमी पर्व – अपर कलेक्टर

जिला शांति समिति की बैठक में नवरात्रि एवं विजयादशमी का त्योहार के संबंध में की गई चर्चा

शांति समिति की बैठक संपन्न

शहडोल/24 सितंबर 2022/

अपर कलेक्टर एवं अपर जिला मजिस्ट्रेट अर्पित वर्मा की अध्यक्षता में दिन शनिवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय के सोन सभागार में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में अपर कलेक्टर ने शांति समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि नवरात्रि एवं विजयादशमी का पर्व जिले में हर्षोल्लास तथा भक्तिमय तरीके से मनाया जा सके, इसके लिए शांति समिति के सभी सदस्य जिला प्रशासन का सहयोग प्रदान करें। जिले में नवरात्रि एवं विजयादशमी पर्व के अवसर पर किसी भी प्रकार की कोई शांति भंग ना कर सके, इसके लिए जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन तात्पर्य है।

बैठक में अपर कलेक्टर ने जिले के सभी मुख्य नगरपालिका अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि नवरात्रि पर्व के दौरान नगर में जगह-जगह प्रतिमा स्थापित की जाएगी। ऐसे धार्मिक एवं उपासना स्थलों पर साफ-सफाई, प्रकाश एवं स्वच्छ जल इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। साथ ही सड़क में आवारा पशु के लिए भी आवश्यक व्यवस्थाएं कर ली जाए। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि नवरात्रि पर्व के दौरान यह सुनिश्चित किया जाए कि अनावश्यक विद्युत कटौती ना हो, यदि किसी कारणवश विद्युत कटौती की जाए तो उसकी सूचना पूर्व से ही प्रकाशित कराई जाए।

बैठक में अपर कलेक्टर ने समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों में विसर्जन स्थल नियत करें। नियत किए गए विसर्जन स्थलों के अतिरिक्त किसी भी अन्य विसर्जन स्थलों पर मूर्ति विसर्जन ना किया जाए। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि विसर्जन स्थलों के किनारे ही गड्ढे बनाकर उसमें ही मूर्ति विसर्जित की जाए। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि ज्यादा लोग विसर्जन में सम्मिलित ना हो। अपर कलेक्टर ने समस्त मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को निर्देशित किया कि पूर्व वर्ष की भांति इस वर्ष भी विसर्जन रथ चलाकर मूर्तियों एवं प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाना सुनिश्चित करें।

बैठक में दुर्गा उत्सव पर दुर्गा पंडालों में लाइट व्यवस्था के साथ वहां की सुरक्षा के बारे में चर्चा हुई। बैठक में शांति समिति के सदस्य ने नवरात्रि पर्व पर नगर में भारी वाहनों को रोकने का सुझाव दिया। भारी वाहनों को बायपास से जाने की व्यवस्था पुलिस द्वारा की जाएगी।

नगर के महत्वपूर्ण मंदिर जहां ज्यादा संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ इकट्ठा होती है वहां पुलिस तैनात करने के लिए सुझाव दिए गए। शांति समिति के सदस्यों ने कहा कि सभी विसर्जन स्थलों पर गोताखोरों, लाइफ जैकेट, नाव एवं तैराकों की आवश्यक व्यवस्था की जानी चाहिए। जिस पर अपर कलेक्टर ने डिस्टिक होम गार्ड के अधिकारियों को गोताखोरों की सूची जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए तथा कहा कि विसर्जन स्थलों पर गोताखोर संपूर्ण व्यवस्थाओं के साथ उपलब्ध कराए जाएं।

बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार वैश्य ने कहा दुर्गा पंडालों में रात के 10 बजे के बाद ध्वनि विस्तारक यंत्रों के प्रयोग पर पूर्णत: सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार बंद रखें। उन्होंने सभी डीजे किराया पर चलाने वालों को चेतावनी देते हुए कहा कि डीजे जब्त होने पर कोर्ट द्वारा छूटने की संभावना नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि विभिन्न त्यौहारों को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस बल की व्यवस्था कर ली गई है तथा आवश्यकता अनुसार हर जगह पुलिस बल मौजूद रहेगा।

बैठक में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सोहागपुर प्रगति वर्मा, सिविल सर्जन डॉ० ज्ञानेंद्र सिंह परिहार, मुख्य नगरपालिका अधिकारी शहडोल अमित कुमार तिवारी, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष उर्मिला कटारे, शांति समिति के सदस्य जसवीर सिंह, प्रदीप सिंह, राजेश गुप्ता, रविंदर सिंह गिल, संजीव निगम, रियाज खान एवं राहत सिद्दीकी सहित पुलिस विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
राजधानी एक्सप्रेस न्यूज़